Ravish Kumar | नौकरियां नहीं हैं, बैंक के पास पैसे नहीं है…

Ravish Kumar | नौकरियां नहीं हैं, बैंक के पास पैसे नहीं है, फिर इतने उत्पातियों को काम कौन दे रहा है

भारत की चार बड़ी कंपनियों ने इस बार 76 फीसदी कम भर्तियां की हैं। 2016 में 59, 427 लोग इन चारों कंपनियों से बाहर हुए थे। 2018 में सिर्फ 13, 972 लोग ही रखे गए हैं। इंफोसिस, विप्रो, टाटा कंसलटेंसी, एस सी एल।

बिजनेस स्टैंडर्ड के रोमिता मजुमदार और बिभू रंजन मिश्रा ने लिखा है कि इन कंपनियों का मुनाफा बढ़ रहा है फिर भी भर्तियां कम हो रही हैं। इसका मतलब है कि कंपनियां आटोमेशन की तरफ तेज़ी से बढ़ रही हैं। कंपनियों के राजस्व बढ़ने का मतलब नहीं रहा कि नौकरियां भी बढ़ेंगी। जैसे टीसीएस का राजस्व 8.6 प्रतिशत की दर से बढ़ा लेकिन नियुक्त किए गए लोगों की संख्या मात्र 2 प्रतिशत ही बढ़ी है।

20-20 लाख की फीस देकर पढ़ने वाले इंजीनियरों को 20 हज़ार की नौकरी भी नहीं मिल रही है। पता नहीं इन नौजवानों की क्या हालत है। कई लोग लिखते हैं कि इंजीनियरों की हालत पर मैं कुछ करूं। बड़ी संख्या में इंजीनियरों को बहका कर ट्रोल बनाया गया। भक्त बनाया गया। इन्हें भी उम्मीद थी कि नौकरियों को लेकर कुछ ऐसा कमाल हो जाएगा। मगर कमाल सिर्फ चुनाव जीतने और भाषण देने में ही हो रहा है।

बिजनेस स्टैंडर्ड के ही शुभायन चक्रवर्ती की रिपोर्ट बता रही है कि नियार्त करने वाले सेक्टर में ठहराव की स्थिति बनी हुई है। जैसे टेक्सटाइल, हीरे जवाहरात, चमड़ा उद्योग। सरकार इन्हीं सेक्टरों के भरोसे हैं कि नौकरियां बढ़ेंगी। लोगों को काम मिलेगा।

भारत का टेक्सटाइटल उद्योग 36 अरब डॉलर का माना जाता है। निर्यात में तीसरा बड़ा सेक्टर है। 2017-18 में इस सेक्टर का ग्रोथ रेट है 0.75 प्रतिशत।

सूरत से ही लाखों लोगों के काम छिन जाने की ख़बरें आती रहती हैं। अभी इस सेक्टर में 1 करोड़ 30 लाख लोग काम करते हैं। इसके कई क्लस्टर बंदी के कगार पर पहुंच चुके हैं। बांग्लादेश और वियतनाम इसी क्षेत्र में अच्छा करते जा रहे हैं।

कंफिडरेशन ऑफ इंडियन टेक्सटाइल इंडस्ट्री के अध्क्ष संजय जैन का कहना है कि टेक्सटाइल में लोगों को खूब काम मिलता है मगर इसकी हालत काफी बेचैन करने वाली है। यह सेगमेंट बहुत ही बुरा कर रहा है। आपको याद होगा कि पिछले दो साल से खबर छपती रही है कि सरकार ने कुछ हज़ार करोड़ के पैकेज दिए हैं। उसका क्या रिज़ल्ट निकला, किसी को पता नहीं है।

इकोनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट है कि बैंकों का डिपाज़िट ग्रोथ पचास साल में सबसे कम हुआ है। कई कारणों में नोटबंदी भी एक कारण है। इसने बैंकों को बर्बाद कर दिया। भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट से पता चलता है कि 2017-18 में बैंकों में डिपाज़िट की दर 6.7 प्रतिशत से ही बढ़ी है। नोटबंदी के दौरान बैंकों में जो पैसे आए थे, वो निकाले जा चुके हैं।

अर्थव्यवस्था की हालत ख़राब है। मोदी सरकार तमाम एजेंसियों की जी डी पी भविष्यवाणी दिखाकर खुश हो जाती है। मगर इंजीनियरिंग की डिग्री से लेकर बिना डिग्री वालों को काम कहां मिल रहा है?

इसलिए ज़रूरी है कि JNU के बाद AMU का मुद्दा उछाला जाए। उसे निशाना बनाकर मुद्दों को भटकाया जाए। आप लगातार हिन्दू मुस्लिम फ्रेम में ही सोचते रहे और धीरे धीरे ग़ुलाम जैसे हो जाएं। पीढ़ियां बर्बाद की जा रही हैं। उत्पात करने के लिए कई प्रकार के संगठन बनाए गए हैं। जिनमें नौजवानों को बहका कर इस्तमाल किया जा रहा है।

Trending Topic

ravish kumar

अभी अभी : Ravish Kumar को जान से मारने वाले ki Dhamki Par अभिशर शर्मा का मुंह तोड़ जवाब Plz Share

Ravish Kumar को जान से मारने वाले ki Dhamki Par अभिशर शर्मा का मुंह तोड़ जवाब पुण्य प्रसून वाजपेयी ने ...
Read More
yogi adityanath ji

UP में सुशासन की एक झलक | पुलिस वाले की गुंडागर्दी | प्लीज शेयर करे

लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पर तैनात टीएसआई अजय सिंह की दबंगई और गुंडई, पर्सनल लग्जरी जीप के आगे खड़े सो रहे ...
Read More
ravish kumar on berojgari

Ravish Kumar | नौकरियां नहीं हैं, बैंक के पास पैसे नहीं है…

Ravish Kumar | नौकरियां नहीं हैं, बैंक के पास पैसे नहीं है, फिर इतने उत्पातियों को काम कौन दे रहा ...
Read More
Ravish-Kumar

PM Modi ka Jhut Hira hai Ravish kumar ki Report

प्रधानमंत्री मोदी का हर झूठ हीरा है, इन हीरों का कंगन बना लेना चाहिए- BY Ravish Kumar तथ्यों को कैसे ...
Read More
ravish kumar prime time

Ravish Kumar Latest prime time 2018

Ravish Kumar Latest prime time 2018 महाभियोग पर त्वरित टिप्पणी- राज्यसभा के 65 मौजूदा सांसदों ने मौजूदा चीफ जस्टिस दीपक ...
Read More
darbhanga_love_marriage

दरभंगा – प्रेम विवाह करने वाले युवक को धुना, युवती को लेकर भागे लोग …जानिए मामला

Darbhanga Love Story दरभंगा - युवक-युवती ने कोर्ट में शादी कर ली, लेकिन युवती के घरवालों ने अपहरण का मुकदमा ...
Read More

 

ravish kumar wife

ravish kumar caste

ravish kumar facebook

ravish kumar youtube

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here