कठुआ रेप केस: मेरी बच्ची की क्या गलती थी, जो मार डाला – आसिफा की मां ने कहा

kathua

Kathua Rape Case

आसिफा की बहन का कहना है कि हमें जंगल में जाने से डर नहीं लगता. लेकिन अब रास्तों पर जाने में डर लगता है

जम्मू के कठुआ में आठ साल की आसिफा के साथ पहले मंदिर में कई दिनों तक रेप किया गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई. दिल को झकझोर देने वाली इस घटना को लेकर पूरे देश में गुस्सा है. आसिफा के परिवार में दुख का माहौल है. उन्हें बस उम्मीद है तो अब सिर्फ न्याय की.

आसिफा की बहन का कहना है कि हमें जंगल में जाने से डर नहीं लगता. लेकिन अब रास्तों पर जाने में डर लगता है. हमें इंसाफ की उम्मीद है. दोषियों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि हम बहुत परेशान हैं, हमें रोटी खाने को नहीं मिल रही. बहुत डर लग रहा है. हमें धमकियां मिल रही हैं कि आसिफा को दफनाने नहीं देंगे.

वहीं आसिफा की मां ने रोते हुए कहा कि मरी बेटी बहुत सुंदर थी. हमें उसकी बहुत याद आती है. मेरी बच्ची ने किसी का क्या बिगाड़ा था उसकी क्या गलती थी जो मार दिया. पहले लगा कि मानो आसिफा को किसी जानवर ने खाया है. दोषियों को सरेआम सजा दी जाए. आसिफा के पिता ने कहा है कि हमें कोर्ट पर पूरा भरोसा है. लेकिन मुझे डर है कि मेरे परिवार की हत्या हो सकती है. अब हमें दूसरी बेटी को जंगल भेजने में डर लगता है.

क्या हुआ था आसिफा के साथ

दरअसल 10 जनवरी को जम्मू कश्मीर के लसाना गांव से बच्ची लापता हो गई थी. लापता होने के 7 दिन बाद बच्ची का शव जंगल से बरामद किया गया. सरकार ने ये मामला 23 जनवरी को क्राइम ब्रांच को सौप दिया था. जिसके बाद इस केस में एसपीओ को गिरफ्तार किया गया था.

अब तक इस केस में करीब 8 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इनमें 2 स्पेशल पुलिस ऑफिसर, एक हेड कॉन्सटेबल, एक सब इंस्पेक्टर, एक कठुआ निवासी और एक नाबालिग शामिल है.

चार्जशीट के मुताबिक बच्ची को जनवरी में एक हफ्ते तक कठुआ जिला स्थित एक गांव के एक मंदिर में बंधक बना कर रखा गया था और उसके साथ छह लोगों ने बलात्कार किया था.

चार्जशीट में बताया गया कि बच्ची को नशीली दवाई देकर लगातार उसका रेप किया गया. एक आरोपी ने अपने चचेरे भाई को खास तौर मेरठ से फोन करके बुलाया, ताकि वो भी बच्ची का रेप कर सके. इतना ही बच्ची की हत्या करने से पहले एक बार फिर उसका रेप किया गया.

165 total views, 2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *